MBA क्या है? करियर,फ़ीस,योग्यता और MBA Ke Fayde

आज इतने सारे कौर्स है की एक सही कौर्स को चुनना काफी कठिन सा हो गया है वैसे 12 वी क्लास के बाद स्कूल लाइफ तो complete हो ही जाती है लेकिन करियर के लिए सही डायरेक्शन चुनने की फ्रिक भी बढती ही जाती है आज स्टूडेंट को एक बार में समझ में ही नहीं आता है की किसी कौर्स को क्यों चुने और उस कौर्स को करने के बाद आगे भी कोई उस क्षेत्र में करियर है भी या नहीं ऐसे में बात आती है अपने इंटरेस्ट को प्रायोरिटी दे उसके according sutable करियर find out कीजिए और उसके बाद ही अपने लिए कौर्स को सलेक्ट किया जाए

बहूत से स्टूडेंट का ये भी कहना होता होता है की मै तो डॉक्टर, इंजिनियर नहीं बनना चाहता हूँ अब किस क्षेत्र में करियर बनांए तो आप एक क्षेत्र में करियर बना ही सकते है और वो है MBA तो आज के इस लेख में चर्चा करेंगे की MBA क्या है?, एमबीए कैसे करे, MBA का फुल फॉर्म क्या होता है?, MBA ke fayde क्या है?, और MBA में अपना करियर कैसे बनाए तो चलिए जानते है इससे पहले आपका स्वागत है हमारे ऑफिसियल वेबसाइट unickskill.com पर अगर आप करियर से जूरी जानकारी पढ़ना पसंद करते है तो आप हमारे वेबसाइट को visit कर सकते है. तो चलिए जानते है एमबीए कोर्स क्या है और MBA ke fayde क्या है.

MBA क्या है? (MBA Course Kya Hai)

MBA एक प्रोफेशनल कोर्स है जिसे ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है।अगर आप भी बिज़नस मैनेजमेंट में अपना करियर बनाना चाहते है तो एमबीए आपके लिए एक बेहतरीन कोर्स साबित हो सकता है। इसकी की शुरुवात 19 वीं सदी में अमेरिका से कि गयी थी और इसका उदय औद्योगीकरण का विस्तार से शुरू हुआ। इसे सिखाने की शुरुवात The Warthon School से किया गया था। अमेरिका में MBA कि शुरुवात होने के कारण वहां के लोगों के द्वारा इसको ज्यादा मात्रा में पसंद करते हैं इसके अलावा विश्व के कई देशों में भी इसका प्रचलन है जिसमें हमारा देश भारत भी पीछे नहीं है।

MBA का फुल फॉर्म क्या हैं? (MBA full form)

एमबीए जिसका फुल फॉर्म मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन (Master of Business Administration) होता है.

MBA Course कौन कर सकता हैं ?

इस कौर्स को वे सभी लोग कर सकते हैं जो कि  B.A, B.Com या B.Sc किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन किया है वह सभी इस कोर्स को कर सकते है।

MBA में एडमिशन लेने कि प्रक्रिया क्या है? (MBA Admission)

एमबीए वो सभी कर सकता है जिसने ग्रेजुएशन( B.a , B.Sc ) पूरी की हो और ग्रेजुएशन में उन्होंने कम से कम 50% होने चाहिए तभी आप एमबीए के लिए फॉर्म भर सकते है। एमबीए करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम भी देना होता है जिसे हम CAT (Common Admission Test) कहते है। एंट्रेंस एग्जाम देने के बाद आपके मेरिट के आधार पर एमबीए के लिए चुना जाता है । वैसे कुछ प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन भी होती है। अगर आप भी चाहते हैं कि डायरेक्ट एडमिशन ले। तो हम यह बता देते हैं कि वह टॉप कॉलेज नहीं होगा अगर होगा तो उसमें आपको ज्यादा फीस देना पड़ेगा.

MBA मैं कौन से सब्जेक्ट पढ़ने होते हैं? (MBA Subject)

वैसे तो एमबीए में बहुत सारे सारे सब्जेक्ट होते हैं सारे सब्जेक्ट होते हैं लेकिन कुछ महत्वपूर्ण सब्जेक्ट नीचे दिया गया –

  • लेखा और वित्तीय प्रबंधन
  • व्यावसायिक अर्थशास्त्र
  • कंपनी वित्त
  • मानव संसाधन प्रबंधन
  • नेतृत्व और उद्यमिता
  • विपणन प्रबंधन
  • तलाश पद्दतियाँ
  • रणनीतिक प्रबंधन
  • परिवर्तन के प्रबंधन
  • प्रबंधन सिद्धांत और व्यवहार
  • स्थिरता के लिए प्रबंध

इसके अलावा उसमें आप कुछ वैकल्पिक विषय भी रख सकते हैं अगर आपकी इच्छा है तो यह सब्जेक्ट अब रख सकते हैं नहीं तो नहीं रख सकते हैं जिसका वर्णन भी निम्न है-

  • अंतर्राष्ट्रीय मानव संसाधन प्रबंधन
  • आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेंट पीजी
  • आईटी प्रबंधन के मुद्दे
  • आईटी जोखिम प्रबंधन
  • आईसीटी परियोजना प्रबंधन
  • आईसीटी परियोजना प्रबंधन
  • औद्योगिक संबंधों में उन्नत अध्ययन
  • एकीकृत विपणन संचार
  • कंपनी वित्त
  • ग्राहक व्यवहार
  • तलाश पद्दतियाँ
  • निवेश विश्लेषण
  • नेतृत्व – एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
  • परिवर्तन के प्रबंधन
  • प्रबंध परियोजना और सेवा नवाचार 
  • मानव संसाधन प्रबंधन
  • लागत और नियंत्रण के लिए प्रबंधन लेखांकन
  • लेखा प्रणाली और प्रक्रियाएं
  • लेखा परीक्षा
  • लेखांकन विचार में वर्तमान विकास
  • व्यापार और निगम कानून
  • व्यावसायिक अर्थशास्त्र
  • व्यापार में संचार
  • वित्तीय लेखांकन
  • वित्तीय लेखा 2
  • वित्तीय बाजार और उपकरण
  • वित्तीय योजना
  • वैश्विक विपणन
  • स्थिरता के लिए प्रबंध
  • संगठनात्मक व्यवहार
  • सामरिक मानव संसाधन विकास

MBA की टॉप 10 स्ट्रीम या कोर्स (Top 10 MBA Course)

फाइनेंस : यह एमबीए का सबसे पुराना सब्जेक्ट है इस कोर्स के दौरान बजटिंग, इंटरनेशनल फाइनेंस और कैपिटल मैनेजमेंट सब्जेक्ट की तैयारी करवाई जाती है किसी भी ऑर्गेनाइजेशन फाइनेंस डिपार्टमेंट में जॉब मिल सकती है फाइनेंस डिपार्टमेंट में जॉब मिल सकती है फाइनेंस में एमबीए करना चाहते हैं तो आपको किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएट होना चाहिए।

मार्केटिंग : एमबीए मार्केटिंग में आपको कंज्यूमर बिहेवियर, मार्केट एडवर्टाइजमेंट और इस खेल से संबंधित अन्य बारीकियों को समझने में मदद मिलती है इस फिल्ड में उन सभी का केरियर बनाया जा सकता है जिसका कम्युनिकेशन स्केल बेहतर हो एवं उसके पास उपस्थित सुविधा का सही इस्तेमाल कर सके।

ह्यूमन रिसोर्स : इसे शार्ट में (HR) भी कहते हैं उन लोगों के लिए है जो एचआर में कैरियर बनाना चाहते हैं अच्छी कम्युनिकेशन स्केल आकर्षक प्रश्न उल्टी एवं आत्मविश्वास से वाले लोगों के लिए एच आर में एमबी एक अच्छा करियर को देख सकते है।

इंटरनेशनल बिजनेस : मास्टर ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस में इंटरनेशनल ऑपरेशन और इंटरनेशनल मार्केटिंग और फाइनेंस की गहराई से जानकारी दी जाती है एमबीए में या डिग्री में मल्टी नेशन और ऑपरेशन पर ज्यादा फोकस किया जाता है

संचालन प्रबंधन : संचालन प्रबंधन में एमबीए ब्रॉडकास्ट मैनेजमेंट या शॉप फ्लोर मैनेजमेंट करते है । इस कोर्स के करने से आप प्रोफेसर फ्लोर को मैनेजमेंट करना क्या लावा बिल्डर और इंटर डिपार्टमेंट रिलेशंस को बनाए रखने का खून सीखते हैं इंजीनियरिंग बैकग्राउंड के ज्यादातर स्टूडेंट ऑपरेशंस में एमबीए करते हैं क्योंकि प्रोजेक्ट डेवलपमेंट, डिजाइनिंग और प्रोसेस ऑप्टिमाइजेशन की जानकारी होने की वजह से उन्हें इस फील्ड में ढलने में ज्यादा दिक्कत नहीं होती है इसके अलावा अब किसी भी स्ट्रीम के उम्मीदवार इस कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी(IT) : इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में ऐसे प्रोफेशनल को तैयार किया जाता है जो की डिजाइन कर सके इनफार्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी के से संबंधित पुराने डिजाइनिंग सिलेक्शन इंप्लीमेंटेशन और एडमिनिस्ट्रेशन को प्रभावी ढंग से मैनेजमेंट कर सकें। यह एक महत्वपूर्ण स्ट्रीम है।

सप्लाई चैन मैनेजमेंट : चैन मैनेजमेंट में इन्वेंटरी मैनेजमेंट वेयरहाउसिंग और किसी कंपनी द्वारा तमाम तमाम तरह के मटेरियल के ट्रांसपोर्टेशन की जानकारी दी जाती है।

रूरल मैनेजमेंट : इस मैनेजमेंट में रूरल मैनेजमेंट एक अनोखा प्रोग्राम है जिससे रूरल बिजनेस मार्केटिंग के फील्ड में स्किल्ड मैनेजर की बढ़ोतरी डिमांड को पूरा करने के लिए बनाया जाता है रूरल मैनेजमेंट में विकास की संभावना बहुत अधिक रहती है।

एग्रीबिजनेस मैनेजमेंट : एग्रीबिजनेस मैनेजमेंट में उन कंपनियों को मैनेज करने की रहस्य सिखाई जाती है जो कंजूमर तक एग्रीकल्चर प्रोडक्ट्स को पहुंचाने की काम करते हैं एग्री बिजनेस सेक्टर की विशेष जरूरतों को ध्यान में रखते हुए स्टूडेंट को मैनेजमेंट मार्केटिंग और फाइनेंस की अच्छी समझ होनी चाहिए।

हेल्थ केयर मैनेजमेंट : इस मैनेजमेंट में हेल्थ से संबंधित सभी प्रकार के  प्रोडक्ट्स मैनेजर को तैयार करने की लक्ष रखी जाती है।

MBA के लिए विश्व के टॉप कॉलेज कौन से हैं (Best MBA College in World)

MBA के लिए कुछ विश्व के टॉप कॉलेज का नाम निम्न है-

Sr.NoCollege NameCountry
01Harvard business schooUSA
02Stanford university GSBUSA
03Stanford university GSBSwitzerland
04Hong Kong USTChina
05IE Business schoolSpain
06University of Virginia-DardenUSA
07University of PennsylvaniaUSA
08London Business schoolUK
09MIT Sloan school of managementUSA
10University of California at BerkeleyUSA

MBA भारत के टॉप कॉलेज कौन-कौन हैं? (Best MBA College in India)

अगर आपको भी भारत से एमबीए करना है तो इसके लिए हम कुछ अच्छे कॉलेज यानी कि टॉप कॉलेज का नाम आपको सजेस्ट करना चाहता/चाहती हूं।

  • IIM Ahmedabad- Indian Institute of Management 
  • IIM Bangalore- Indian Institute of Management, Karnataka
  • Indian Institute of Management, Calcutta
  • IIM Kozhikode- Indian Institute of Management
  • Department of Management,IIT Delhi
  • IIM Indore- Indian institute of management
  • IIM Lucknow- Indian institute of management
  • XLRI Xavier school of Management
  • VGSOM IIT Kanpur- vinod Gupta school of Management
  • Shailesh J.Mehta school of Management, IIT Bombay

MBA करने के फायदे क्या-क्या हैं? (MBA ke fayde)

एमबीए करने के बहुत सारे फायदे हैं। अगर आप एमबीए कर लेते हैं तो तो आपके पास एक अच्छी बिजनेस मैनेजमेंट स्किल उत्पन्न हो जाती है। जिसकी मदद से आप विश्व के किसी भी प्राइवेट कंपनी में अच्छे पेमेंट के साथ आप जॉब कर सकते हैं जैसे कि आप नाम तो सुना ही होगा सुंदर पिचाई का जो कि  भारत के ही हैं और वो आज गूगल का सीईओ हैं जिसके पास एक बिजनेस मैनेजमेंट स्किल बहुत अच्छी है इसके अलावा अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, ओला वॉलमार्ट ,माइक्रोसॉफ्ट, बीएमडब्ल्यू ,टाटा मोटर्स ,हुंडई ,इंफिनिक्स ,एप्पल इत्यादि  कंपनियों में आपको जॉब लग सकती हैं तथा अब अपना खुद का भी बिजनेस को संभाल सकते हैं।

MBA करने में कितना खर्च आता है?

 हम बता दें आपको कि एमबीए करने में कोई निर्धारण खर्च नहीं दिया गया फिर भी लगभग आपको एक अनुमान से बताया जाएगी तो इसमें कोई कॉलेज जो अच्छे होते हैं वह बहुत ज्यादा रुपया लेते हैं और कुछ कॉलेज कम फ्री में भी वह एमबीए कि कोर्स करवा देते हैं । खर्च इस बात पर डिपेंड करता है कि वह कॉलेज किस रेंक का यानी कि उस कॉलेज का प्लेसमेंट कितना.

एमबीए कितने वर्षो का होता है?

एमबीए आप तोर पर दो वर्ष का होता है जिसमे छात्र को बिज़नेस के बारे में पूरी जानकारी देते है

12 वी के बाद एमबीए कैसे करे

MBA करने के लिए पहले आपको ग्रेजुएशन करना होगा आप 12 वी के बाद तीन वर्षो का किसी क्षेत्र में ग्रेजुएशन कर सकते है उसके बाद आप एमबीए में एडमिशन लेकर पढ़ सकते है

निष्कर्ष : अंतिम विचार

मै विशाल विशु मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपके सभी पसंद आया होगा मेरा यही कोशिश रहता है की मै एक ही आर्टिकल में एक टॉपिक के बारे में पूरी जानकारी दे दु जिससे आपको दुसरे पोस्ट पर जाने की आवश्यकता न पड़े जिससे आपके समय का बचत हो वैसे आज के इस पोस्ट में हमने MBA के बारे में बात किया हुआ है की MBA क्या है?, कैसे करे, क्या प्रोसेस है, MBA के बेस्ट कॉलेज, MBA ke fayde क्या है और एमबीए करने में कितना खर्चा परेगा

Share

Leave a Comment

List of 10 IT Companies in Ahmedabad Intraday Trading से रोज कमाए 5000 Top 10 Most Expensive NFTs of All Time 10 Best Life Insurance Companies of October 2022 Meta’s NFT Display Tools Extend to All US Insta and FB Users