पॉलिटेक्निक क्या है और पॉलिटेक्निक करने के क्या फायदे है

10वीं की कक्षा उत्तीर्ण होने के बाद विद्यार्थी के मन में एक सवाल जरूर आता है आगे जाकर क्या करना है जिससे कि हमारा भविष्य बेहतर हो सके एक सफल इंसान बन सके इन्हीं सारे बातों के चलते आपके दोस्त फैमिली मेंबर पॉलिटेक्निक करने की सलाह देते हैं और कहते हैं पॉलिटेक्निक में अच्छा करियर है

अगर तुम पॉलिटेक्निक कर लोगे तो एक अच्छी जॉब मिल जाएगी परन्तु विद्यार्थियों को पता ही नहीं होता है Polytechnic kya hai, Polytechnic कैसे करे ,पॉलिटेक्निक करने से क्या फायदे है? तो चिंता मत कीजिए आज का यह लेख आपको पॉलिटेक्निक से जुडी सारी जानकारी देगा इससे पहले

हाय हेलो नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत हमारे Official blog Unickskill पर आज आप इस लेख में सीखेंगे की Polytechnic kya hai ,पॉलिटेक्निक कैसे करे, पॉलिटेक्निक करने से क्या फायदा है?, पॉलिटेक्निक में करियर कैसा है,पॉलिटेक्निक करने की फीस कितनी है.

पॉलिटेक्निक क्या है? (Polytechnic kya hai)

वैसे Polytechnic दो शब्दों से मिलकर बना है पहला Poly और दूसरा Technic जिसका मतलब जो सभी Technical  कामो को करने की इच्छा रखता हो तथा उस काम को पूरा करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दे Polytechnic जिसे Diploma भी कहा जाता है यह एक Technical course  है जिसमें Technical course  कराए जाते हैं.

पॉलिटेक्निक मतलब “Engineering in Diploma” होता है जिसे 10वीं और12वीं के बाद कर सकते हैं यह जूनियर इंजीनियर बनाने का एक तरीका है जिसके अंदर अलग-अलग कौर्स कराए जाते हैं और Junior Engineer के पद पर नियुक्त करके नौकरी दी जाती है Polytechnic तीन साल में का होता है जिसको 6 सेमेस्टर में बाँटा गया है, जिसमें एक सेमेस्टर 6 महीना का होता हैइस कौर्स को करने के बाद आप गवर्नमेंट और प्राइवेट दोनों सेक्टर में जॉब कर सकते हैं.

पॉलिटेक्निक कैसे करे?(Polytechnic Kaise Kare)

Polytechnic करने के लिए आपको पहले से ही तैयार रहना होगा क्योकि आपकी जानकारी के लिए बता दू की आपका जैसे ही एग्जाम खत्म होगा वैसे ही Polytechnic form निकल जाता है जिस कारण से बहूत से विधार्थी तैयारी नहीं कर पाते है और अच्छा रेंक नहीं बना पाते है जिस से विधार्थी को मन चाहा ब्रांच और कॉलेज नहीं मिल पाता है इसीलिए अगर आप पॉलिटेक्निक करना चाहते है तो पहले से ही तैयार रहे.

पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेने के लिए आपको एक टेस्ट देना होगा जिसे CET(Comman Entrance test ) कहते हैं इस टेस्ट में अच्छा रैंक लाने पर आप अपनी पसंदीदा कोर्स को लेकर आगे की पढ़ाई करने का मौका दिया जाता है

पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए योग्यता (Eligibility for Polytechnic)

  • 10वी और 12वी के बाद पॉलिटेक्निक कर सकते है.
  • पॉलिटेक्निक करने के लिए आपका कम से कम 10वी या 12वी में 35% नंबर होना चाहिए
  • इसमें गणित,विज्ञान और अंग्रेज़ी है .

पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्रकार

पॉलिटेक्निक के अंतर्गत तीन तरह के कॉलेज आते हैं –

  1. Government Polytechnic College
  2. Private College
  3. Women Polytechnic College

प्राइवेट कॉलेज की तुलना में सरकारी कॉलेज की फीस काफी कम होती है इस कोर्स को करने वाले विद्यार्थी को NSP के द्वारा छात्रवृत्ति मिलने की संभावना अधिक होती है और प्राइवेट कॉलेज की तुलना में सरकारी कॉलेज बहुत ज्यादा फीस चार्ज करते हैं और छात्रवृत्ति की मिलने की संभावना बहुत कम होती है और महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज के अंतर्गत सिर्फ महिला अभ्यार्थी ही प्रवेश कर सकती है.

पॉलिटेक्निक करने के फायदे (Benefits of Polytechnic)

  • पॉलिटेक्निक करने के बाद आप Technical Student बन जाते है .
  • आपके पास एक तकनीकी प्रमाणपत्र होता है.
  • आपको जॉब untechnical की तुलना में जल्दी मिल जाएगा.
  • इस कोर्स को करने के साथ इंटरमिडिएट की भी मान्यता प्राप्त होती है.
  • पॉलिटेक्निक आपको सफल करियर बनाने की क्षमता प्रदान करती है.
  • पॉलिटेक्निक करने के बाद बी टेक में आपका एडमिशन सेकंड इयर में हो जाता है.
  • तत्काल नौकरी आपको पॉलिटेक्निक के आधार पर मिलेगा.

Polytechnic और ITI में क्या अंतर है?

  • Polytechnic का अंग्रेज़ी में full फॉर्म Engineering in diploma कहते है और ITI का full फॉर्म Industrial Tranning Institute होता है.
  • पॉलिटेक्निक में किसी भी ब्रांच से पढाई करने पर तीन साल का cource होता है और IIT में किसी ट्रेड से पढाई करने पर 1 से 2 साल लगता है.
  • पॉलिटेक्निक में किसी Course को ब्रांच कहा जाता है तथा IIT में किसी कौर्स को ट्रेड कहा जाता है.
  • ITI से Polytechnic की तुलना पॉलिटेक्निक में ज्यादा खर्चा लगता है और IIT में polytechnic की तुलना में कम खर्चा लगता है.
  • पॉलिटेक्निक आप 10वी और 12वी के बाद कर सकते है और IIT भी आप 10वी और 12वी के बाद कर सकते है.
  • Polytechnic करने के बाद आप आसनी के साथ बी टेक कर सकते है  और IIT करने के बाद आप बी टेक आसनी के साथ नहीं कर सकते है.
  • Polytechnic में IIT की तुलना में ज्यादा पढ़ाया जाता है और IIT में polytechnic की तुलना कम पढ़ाया जाता है.

Polytechnic के बाद करियर

पॉलिटेक्निक करने के बाद आपको एक अच्छा जॉब मिलने की संभवना बहूत अधिक होती है जिसमे आपको एक संतुष्ट जनक सेलरी के साथ आपको समाज में इज्जत भी मिलती है.

अंतिम विचार :

आसा करता हूँ की आपको अब पता चल गया होगा की Polytechnic kya hai और पॉलिटेक्निक कैसे करे ,पॉलिटेक्निक करने से क्या फायदे है?, पॉलिटेक्निक में करियर कैसा है,पॉलिटेक्निक  करने की फीस कितनी है. अगर आपको इस आर्टिकल से थोड़ा भी ज्ञान मिला तो प्लीज अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे धन्यवाद .

FAQ

पॉलिटेक्निक में कितनी फ़ीस लगती है?

सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेज में प्रति सेमेस्टर लगभग 4 से 5 हजार के बीच लग जाता है और यह फ़ीस पुरे कॉलेज पर निर्भर करता है कॉलेज के अनुसार फ़ीस अलग-अलग होता है.

पॉलिटेक्निक कितने वर्षो का होता है?

पॉलिटेक्निक 10वी या 12वी के बाद करने पर 3 वर्षो का होता है.

क्या polytechnic ग्रेजुएशन है?

जी नहीं, पॉलिटेक्निक करने के बाद इंटर की मान्यता प्राप्त होती है.

Bihar polytechnic परीक्षा किसके द्वारा जारी की जाती है?

बिहार पॉलिटेक्निक परीक्षा Bcece (बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा बोर्ड) के द्वारा जारी क्या जाता है.

Share

Leave a Comment

Meta’s NFT Display Tools Extend to All US Insta and FB Users How did Coolio die Gangsta’s Paradise Rapper Coolio Net Worth 2022 Gangsta’s Paradise rapper Coolio dead at 59, Cause of Death Top 7 Best NFTs to Buy Right Now