एक से आठवीं तक के बच्चे करेंगे अब ब्रिज कोर्स राजस्थान सरकार का फैसला

कोरोना वायरस ने ना केवल लोगों के तन मन का नुकसान किया बल्कि इसने बच्चों की पढ़ाई पर भी बुरा असर डाला करीब 2 साल तक स्कूल बंद होने के वजह से बच्चों की शिक्षा पर बुरा प्रभाव पड़ा हालांकि ऑनलाइन क्लासेज से इस ऑनलाइन की भरपाई करने की कोशिश की गई लेकिन फिर भी जो बात स्कूल जाकर पढ़ने की होती है वह घर पर ऑनलाइन क्लासेज में नहीं हो जाती है

लेकिन गुजरा वक्त वापस तो नहीं आ सकता लेकिन आने वाले समय में बच्चों में हुई पढ़ाई की कमी को दूर किया जा सकता है और इसी वजह से राजस्थान सरकार ने इस और बड़ा कदम उठाया है उसने पढ़ाई का पैटर्न बदल दिया राज्य के शिक्षा विभाग ने नए शैक्षणिक सत्र में कक्षा एक से आठवीं तक के करीब एक करोड़ बच्चे के लिए ब्रिज कोर्स ऐलान किया है जिससे कि कोरना काल में हुई पढ़ाई की हानि के अंतर को कम किया जा सके और इसके लिए राज्य सरकार ने शिक्षा विभाग को 75 करोड़ का बजट भी दे रहा है

आपको बता दें कि सीएम गहलोत ने बजट सत्र के दौरान यह बातें कही थी उन्होंने कहा था कि कोविड के दौरान शैक्षणिक गतिविधियां के नुकसान की भरपाई के लिए स्कूली बच्चों के लिए 3 महीने के ब्रिज कोर्स की व्यवस्था की जा सकती जा रही है इसके लिए ₹750000000 का प्रावधान किया गया है इससे पहले सरकार ने राज्य में संबल योजना लागू की थी जिसके जरिए अब प्राइवेट स्कूल प्राइवेट शिक्षक सरकारी अंग्रेजी स्कूलों के बतौर गेस्ट facility सकेंगे

अन्य पढ़ें :

Leave a Comment